Crossfit के क्या फायदे है और क्या ये safe है?

HealthLeave a Comment on Crossfit के क्या फायदे है और क्या ये safe है?

Crossfit के क्या फायदे है और क्या ये safe है?

Crossfit High Intensity Power Fitness की एक फॉर्म है जिसमे कम वक़्त में ज्यादा वर्कआउट करना होता है. आज के वक़्त में Crossfit Globally level पर प्रसिद्ध है.

ये Body weight कम करने व शरीर को फिट रखने में जरूरी एक्टिविटी मानी जाती है.

आज के वक़्त में जितने भी youngster है सभी का रूझान फिटनेस ट्रेनिंग की तरफ ही है और ये इन्टरनेट के जरिये भी वायरल हो रहा है. इसमें कई डायनामिक एक्सरसाइज शामिल है जैसे-

  • Plyometric jumping.
  • Olympic Weightlifting.
  • Kettlebells.
  • Explosive Bodyweight Movements.
प्लायोमैट्रिक जंपिंग

Crossfit के benefits के लिए आगे पढ़े और ये हमारे लिए सही है या नहीं जाने.

ये भी जरूर पढ़े- Stairs workout

(फायदे)Benefits

  • शारीरिक शक्ति में सुधार – क्रोसफिट में हाई इंटेंसिटी और मल्टी जॉइंट से muscle की ताक़त और stamina बढ़ सकती है. वर्कआउट में additional weight जोड़ने से मांसपेशियों में स्ट्रेस बढाकर muscle increase कर सकते है.
  • आप अपने Day Workout में क्रोसफिट कर सकते है जिससे आपकी मांसपेशियों को वैरायटी मिलेगी. ये आपकी workout of the day का अच्छा पार्ट बन सकता है
  • Aerobics फिटनेस को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है. –High Intensity Power Training ऑक्सीजन की अधिक मात्रा बढाने में मदद करती है जो एक्सरसाइज के दौरान यूज़ कर सकते है.
  • चुस्ती-फुर्ती, संतुलन व लचीलेपन में सुधार – क्रोसफिट वर्कआउट में Functional एक्सरसाइज या एक्सरसाइज include होती है जो हम डेली रूटीन में करते है फंक्शनल मूवमेंट्स जेसे स्क्वेट्स, kettlebells swings या ओवरहेड प्रेस चुस्ती,संतुलन व लचीलेपन को बेहतर बनाने में मदद कर सकते है.

ये तीनो चीजे आपकी इंजरी के रिस्क को कम कर सकती है और उम्र बढ़ने के साथ साथ आपकी लाइफ की क्वालिटी में सुधार कर सकती है.

कैलोरी को बर्न(जलाना) करता है और weight को मैनेज करता है- क्रोसफिट वर्कआउट अन्य वर्कआउट के मुकाबले में ज्यादा कैलोरीज बर्न करता है.

औसतन 88 किलोग्राम का पुरुष 15 से 18 कैलोरी प्रति मिनट और 74 किलोग्राम की महिला 13 से 15 कैलोरी प्रति मिनट जलाएंगे

machines के उपयोग से वेटलिफ्टिंग के दौरान इसकी तुलना 11 कैलोरी प्रति मिनट से 9 कैलोरी प्रति मिनट होती है. अगर आपका goal वजन कम करना है तो क्रोसफिट एक्सरसाइज के साथ healthful diet को भी फॉलो करना बहुत जरूरी है.

क्या क्रोसफिट सेफ है?

क्रोसफिट एक्सरसाइज का हाई इंटेंसिटी फॉर्म है. जब आप अपने वर्कआउट की स्पीड बढाते है या अधिक weight उठाते है तो उस वक़्त इंजरी होने का रिस्क ज्यादा हो जाता है जिसमे कुछ इंजरी ये है

  • Low back pain
  • Rotator cuff tendonitis
  • Achilles tendonitis
  • Knee injury
  • Tennis elbow

यदि आप physical training में नए है तो बेहतर होगा के आप ट्रेनर की सलाह जरूर ले क्योंकि ट्रेनर आपको बता पायगा के आप सही कर रहे है या नहीं. या आप जो weight उठा रहे है वो आपके लिए सही है या नहीं. ट्रेनर के बताये गए Instructions को फॉलो करने से आप जल्दी आगे बढ़ सकते है.

फिजिकल एक्सरसाइज सभी के लिए सही नहीं होती है. यदि कोई महिला गर्भवती है और वो पहले से कर रही है तो वो अपना वर्कआउट continue कर सकती है यदि अगर आप injured है या गंभीर समस्या है तो क्रोसफिट आपके लिए सुरक्षित नहीं है उसके लिए ये सही रहेगा के आप अपने डॉक्टर से सलाह ले.

अगर आपकी 65 year से अधिक उम्र के है और आप पहले से fit है फिर भी आप क्रोसफिट करना चाहते है तो एक बार डॉक्टर को जरूर मिल ले. डॉक्टर आपकी हेल्थ कंडीशन देखकर आपको suggestion देंगे के क्रोसफिटआपके लिए सुरक्षित है या नहीं.

Ikram Hussain
hey, this is ikram hussain. He has a very deep intrest in Health and Fitness topics.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top