ALS बीमारी क्या है और क्या इसका इलाज संभव है?

Disease(बीमारी )2 Comments on ALS बीमारी क्या है और क्या इसका इलाज संभव है?

ALS बीमारी क्या है और क्या इसका इलाज संभव है?

ALS (एमीयोट्रोफिक लेटरल स्क्लेरोसिस) बीमारी Neuron motor बीमारी का एक प्रकार है इसमें शरीर की मांसपेशियों में कमजोरी आती है और किसी तरह नियंत्रण नहीं रहता है. ये श्वास को control करने वाली नसों को प्रभावित करती है व शरीर धीरे धीरे लकवाग्रस्त होने लगता है.

ALS DISEASE

मोटर न्यूरॉन बीमारी क्या होती है?

मोटर न्यूरॉन बीमारी को charcot बीमारी के नाम से भी जाना जाता है.मोटर न्यूरॉन nerve cells होते है जो मस्तिष्क और रीड की हड्डी में पाए जाते है जो मांसपेशियों को सही रूप से Activity करने में मदद करती है.

यदि ये सेल्स डैमेज हो जाते है तो मस्तिष्क और स्पाइन की nerve धीरे धीरे काम करना बंद कर देती है और nerve सिस्टम पूरी तरह से Disturb हो जाता है. neuron motor का साधारण सा उदहारण एमीयोट्रोफिक लेटरल स्क्लेरोसिस है.

जेसे ALS बढ़ता है ये कोशिकाए कमजोर होकर ख़त्म होने लगती है और मांसपेशियों तक किसी भी तरह का सन्देश नहीं पहुच पता है.

कुछ और Disorders भी है जो हमारे मस्तिष्क से जुड़े है जिसमे Neuron Motor ALS भी शामिल है

  1. एमीयोट्रोफिक लेटरल स्क्लेरोसिस (ALS)
  2. प्राइमरी लेटरल स्क्लेरोसिस (Primary Lateral Sclerosis)
  3. प्रोग्रेसिव मस्कुलर एट्रोफी (Progressive Muscular Atrophy)
  4. प्रोग्रेसिव बल्बर पालसी (Progressive Bulbar Palsy)
  5. Pseudobulbar palsy
  6. मोनोमेलिक एमीयोट्रोफी (Monomelic Amyotrophy)

ये कहा से शुरू हुआ?

अमेरिका के एक बहुत महान baseball खिलाडी थे Lou Gehrig. 1941 में उनकी मृत्यु मोटर न्यूरॉन के कारण हुई थी जिसकी वजह से इस बिमारी को उनका ही नाम दिया गया Lou Gehrig.

महान Baseball player Lou Gehrig खेलते हुए

ये बीमारी 40 से 70 वर्ष के लोगो को हो सकती है लेकिन Big Bang Theory का रहस्य बताने वाले महान scientist स्टीफन हॉकिंग को ये बीमारी 21 की Age में ही हो गयी थी और इस बीमारी में सबसे ज्यादा वक़्त जीने वाले पहले इन्सान हॉकिंग ही थे.

स्टीफन हॉकिंग महान वैज्ञानिक

वे 76 साल जिए थे मगर वो पूरी तरह से लकवाग्रस्त हो गये थे. उनका दिमाग व आँख ही काम करते थे. वे Electronic voice synthesizer के जरिये बात करते थे.

मोटर न्यूरॉन बीमारी के कारण 14 march 2018 को कैम्ब्रिज में हॉकिंग का निधन हो गया.

ये भी पढ़े – Coffee और Tea

ALS पर कुछ तथ्य

  • ALS मस्तिष्क व रीड की हड्डी में तंत्रिका कोशिकाओ को प्रभावित करता है जिससे मांसपेशियों में कमजोरी , मोटर फंक्शन, लकवा व सांस लेने में तकलीफ होती है और अंत में मृत्यु हो जाती है.
  • लक्षण दिखने के बाद ALS से ग्रसित अधिकांश लोग से 3 से 5 साल के बीच ही जीते है.
  • ALS क्यों होती है इसका बिलकुल सही कारण तो पता नहीं चला लेकिन पर्यावरण और आनुवंशिक इसके कारण हो सकते है.

संकेत व लक्षण –

वेसे तो ALS के लक्षण तब दीखते है जब व्यक्त 50 की उम्र पार करके 60 की उम्र तक जाता है लेकिन ये अन्य उम्र में भी हो सकता है.

begining में संकेत व लक्षण मुश्किल से ध्यान देने लायक होते है लेकिन समय के साथ अधिक कमजोरी दिखाई देने लगती है.

कुछ सामान्य लक्षण :

  • दैनिक गतिविधियों में कठिनाई आना जेसे चलना.
  • भद्दापन बढ़ जाना
  • पैरो , हाथो व तखनो में कमजोरी आजाना
  • ऐठन आना, हाथ ,कंधो और जीभ में मरोड़ आजाना.
  • सही posture बनाये रखने व सर ऊपर उठाने में कठिनाई आना.
  • हसने व रोने पर अनियंत्रित प्रकोप emotional lability के रूप में जाना जाता है.
  • दर्द.
  • थकान.
  • लार व बलगम की समस्याए.
  • धीरे धीरे सांस लेने व निगलने में कठिनाई होना.

कुछ लोगो को decision लेने की और Memory की problem हो सकती है. जिसे फ्रंटोटेम्पोरल डीमेंशिया कहा जाता है.

कारण और प्रकार

ALS के क्या कारण ये आज तक सामने नहीं आये है लेकिन इसके संकेत और लक्षण के हिसाब से ये अलग अलग प्रकार के होते है

ALS sporadic और familiar(पारिवारिक) हो सकता है.

sporadic ALS अनियमित रूप से हो सकता है और ये 90 से 95 प्रतिशत मामलो में होता है इसका कोई स्पष्ट कारण नहीं है. पारिवारिक ALS विरासत से मिला होता है 5 से 10 प्रतिशत मामले पारिवारिक के होते है.

कुछ अन्य संभावित कारण:

  • Disorganised immune response – प्रतिरक्षा प्रणाली शरीर की कुछ कोशिकाओ को नष्ट कर सकती है
  • केमिकल Imbalance – ALS वाले लोगो में अक्सर मोटर नयूरोंस के पास ग्लूटामेट(मस्तिष्क में एक रासायनिक संदेशवाहक) के उच्च स्टार होते है.
  • Mishandling of Protein – यदि प्रोटीन को तंत्रिका कोशिकाओ द्वारा सही तरीके से handle नहीं किया जाता है तो आसामान्य प्रोटीन जमा हो सकते है और और कोशिकाओ के मरने का कारण बन सकते है.

Possible Environmental Factors

पर्यावर्णीय कारक भी भूमिका निभा सकते है.

एक अध्यन से पता चला है की 1991 के युद्ध के दौरान खाड़ी क्षेत्र में तैनात सैन्य कर्मियो में ALS होने की सम्भावना अन्य जगह पर तैनात सैन्य कर्मियों की तुलना में ज्यादा थी.

उपचार

ALS का इलाज अभी तक संभव नहीं बताया गया है इसीलिए इसे लाईलाज बिमारी कहा जाता है लेकिन मई 2017 में Radicava(Edaravone) को ALS के इलाज के लिए मंजूरी दी गयी थी. ये शारीरिक क्रियाओ में गिरावट को एक तिहाई तक धीमा कर सकता है लेकिन ALS को ख़त्म नहीं कर सकता है.

लेकिन कुछ Therapy है जिनकी वजह से रोगी की काफी मदद हो सकती है जैसे

1. Physical Therapy

फिजिकल थेरेपी ALS वाले लोगो को दर्द और गतिशीलता सम्बन्धी समस्याओ का समाधान करने में मदद करती है.   एक physical therapist सहायता और जानकारी प्रोविडे कर सकता है जैसे की

physical therapy
  • Heart की फिटनेस और समग्र कल्याण को बढ़ाने के लिए कम प्रभाव वाली exercise
  • गतिशीलता एड्स जेसे वॉकर और व्हीलचेयर
  • Life को आसान बनाने वाले उपकरण जेसे रैंप

2. Occupational Therapy

  • ये therapy रोगी को लम्बे समय तक अपनी independency बनाये रखने में मदद करती है.
  • रोगियों को अपनी Daily Routine बनाये रखने में मदद करने के लिए अनूकुली उपकरण और सहायक तकनीक चुनने में मदद करती है

3. Breathing Therapy –

  • Breathing Muscles कमजोर होने पर ही इस थेरेपी की जरुरत पड़ती है.
  • Breathing device रोगी को रात में सही से सांस लेने में मदद करती है. कुछ रोगियों को Mechanical ventilation की आवश्यकता होती है. Ventilation में tube का एक हिस्सा श्वासयन्त्र से जुदा होता है और दूसरा हिस्सा गले में सर्जरी के द्वारा छेद करके डाला जाता है.

4. Speech Therapy

Speech Therapy

  • जब ALS के कारण रोगी को बोलने में कठिनाई होती है तो स्पीच थेरेपी का उपयोग किया जाता है और रोगी को अनुकुली तकनीक सिखाई जाती है.
  • इसमें writing और computer based equipment शामिल होते है.

5. Nutrition Support

  • Nutrition support बहुत जरुरी है क्योंकि निगलने में कठिनाई होने की वजह से पर्याप्त पोषक तत्व सही तरह से नहीं मिल पाते है जिससे काफी कठिनाई होती है. इसके लिए nutritionists आसानी से निगला जा सके खाने की सलाह देते है जिसके लिए feeding tube और Suction device इस्तेमाल में ली जाती है.
Acchi Sehat
hey, this is ikram hussain. He has a very deep intrest in Health and Fitness topics.

2 thoughts on “ALS बीमारी क्या है और क्या इसका इलाज संभव है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top